Wednesday, 31 August 2017

Hindi story,Hindi article, Hindi biography, success story,motivational story,seo,blogger, WhatsApp,Facebook,worldpress, tips and tricks in hindi

Friday, April 13, 2018

National Apprenticeship Training Scheme for Graduates and Diploma holders: Applications Open

National Apprenticeship Training Scheme (NATS)



                                                                                national apprenticeship training scheme login

board of apprenticeship training online registration

                                                                                          national apprenticeship training salary


About NATS


  • It is a 1 year programmer equipping technically qualified youth with practical knowledge and skills required in their field of work
  • The Apprentices are imparted training by the organizations at their place of work. Trained managers with well developed training modules ensure that Apprentices learn the job quickly and completely
  • During the period of Apprenticeship, the apprentices are paid a stipend amount, 50% of which is reimbursable to the employer from Government of India.
  • At the end of the training period, the Apprentices are issued a Certificate of Proficiency by the Government of India which can be registered at all employment exchanges across India as valid employment experience.
  • The apprentices are placed for training at Central,State and Private organizations which have excellent training facilities 

                                                                     national apprenticeship promotion scheme

national apprenticeship promotion scheme

                                                                       board of apprenticeship training (southern region) login


What is Apprenticeship?


  • Apprenticeship is an agreement between a person (an apprentice) who wants to learn a skill and an employer who needs a skilled worker
  • The Apprentices are taught the latest applications, processes and methodologies in their respective fields of work from some of the most renowned organizations in India
  • This also acts as a transition phase for a school/college student from a classroom to a working background.
  • The Apprentice also learns soft skills,work culture,ethics and organizational behavior while undergoing training
     

How to enroll

    1. You have to visit official website
    2. Then you have to enrolled yourse
    3.  Before enrolling make sure you have completed your diploma/degree in engineering
    4.  Also make sure having no backlogs
    5.  If you have any work experience then you are not eligible
    6.  Please ensure that the following documents are kept ready for enrolling in the portal

           Aadhaar card
         ✓ Valid personal email id
          Mobile number (will be required to send/verify OTP)
          Passport size photograph Format: JPEG, Size: Less than 200kb
          Bank account details
         ✓ Qualifying Degree / Provisional Certificate, Format: PDF, Size: Less than 1mb



Minister's Quote
“The apprenticeship training is one of the sources to develop skilled manpower for industry, by using training facilities available in the establishments without putting extra burden on exchequer to setup training infrastructure”


National Apprenticeship Training Scheme (NATS) 


Hon. Shri Prakash Javadekar Minister of HRD, Government of India

nats login page

Sunday, February 18, 2018

Upse ,cse,iss कि परीक्षा की पूरी जानकारी हिंदी में upse cse iss exam full information by deshhindi.com

नमस्कार दोस्तों आज हम बात भारत के एक प्रमुख   एग्जाम UPSE CSE ISS के लिए होने वाली परीक्षा के बारे में बात करने वाले हैं।
ISS बनने के बाद कैंडिडेट निम्न पोस्ट पर जॉब करते हैं


1)  कलेक्टर
2)  कमिश्नर
3)  Head of public sector units
4)  चीफ सेक्रटरी
5)  कैबिनेट सेक्रेटरी
ISS की  जॉब बहुत चैलेंजिंग JOB होती है इसके लिए बहुत कठिन  एग्जाम लिया जाता है क्युकी  एक IAS की बहुत बड़ी जिम्मदारी होती है ।
एक ISS अधिकारी का कैरियर बहुत ही मेहनती  व जिम्मेदार माना जाता है।


भारत में Govt. जॉब्स में सबसे बड़ी पोस्ट आईएएस को माना जाता है। यह  बहुत ही प्रतिष्ठित JOB होती है। ISS का असली काम लाखो लोगों की ज़िंदगी में पॉजिटिव बदलाव लाना होता है।
ISS बनने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है और इसके लिए EXAM का प्रोसेस बहुत खतरनाक होता है ।

IAS के लिए एलिजिबिलिटी ―  
1) अभ्यर्थी के पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर की डिग्री होनी चाहिए।

2) General category के अभ्यर्थी की उम्र 21 से  32  साल तक होनी चाहिए तथा जनरल कैटेगरी का अभ्यर्थी 6 बार यह परीक्षा दे सकता है।

3) OBC category के अभ्यर्थी की उम्र  21 से 35
साल तक होनी चाहिए तथा OBC कैटेगरी के अभ्यर्थी 9 बार यह परीक्षा दे सकते  है।

4) Sc /st category के अभ्यर्थी की उम्र 21 से 37 साल तक होनी चाहिए तथा ये अभ्यर्थी यह परीक्षा
37 साल तक कितनी भी बार दे सकते हैं।

5) इसके अलावा अभ्यर्थी को भारत का नागरिक होना भी जरूरी है।
IAS के एग्जाम को तीन बार में लिया जाता है ―


(1)  प्रीलिम्स  ―   यह एक आब्जेक्टिव टाइप पेपर     होता है इसमें करीब दस लाख स्टूडेंट्स पेपर देते हैं जिनमें से लगभग एक लाख स्टूडेंट्स मेन्स में सिलेक्ट होते हैं। इसमें जनरल नॉलेज, करंट अफेयर्स , हिस्ट्री, बेसिक नॉलेज , बेसिक कैलकुलेशन  आदि पर प्रश्न पूछे जाते हैं ।
इसमें दो पेपर होते हैं  100,100 नम्बर के जिनमें से      passing मार्क्स 33 33 लाने होते हैं इस पेपर के मार्क्स फाइनल टोटल में नहीं जुड़ते हैं।


(2) मेन्स ― प्रीलिम्स क्लियर करने के बाद   अभ्यर्थियों को मेन्स क्लियर करना पड़ता है इसमें 9 paper  होते हैं जो निम्न है  इनमें से सात पेपर के मार्क्स फाइनल टोटल में जुड़ते हैं और बाकी दो पेपर में पासिंग मार्क्स लाने पड़ते है ।

  पेपर  1)कोई एक भारतीय भाषा 250 marks

  पेपर  2) अंग्रेजी 250marks

  पेपर  3) निबंध 250 marks

  पेपर  4)सामान्य अध्ययन part 1  ( भारतीय                इतिहास, संस्कृति, और भूगोल )     250 marks

    पेपर  5)    सामान्य अध्ययन part 2 (गवर्नेंस            सामाजिक न्याय, संविधान , अंतरराष्ट्रीय सम्बन्ध )    250 marks

    पेपर  6)    सामान्य अध्ययन  part 3  ( प्रोद्योगिकी   आर्थिक विकास ,पर्यावरण , जैव विविधता ,आपदा प्रबंधन) 250 marks

   पेपर  7) सामान्य   अध्ययन part 4  (नैतिकता,ईमानदारी, ऐप्टिट्यूड )  250 marks

  पेपर  8)   वैकल्पिक विषय 250 marks

  पेपर  9)  वैकल्पिक विषय250 marks

 (3) इंटरव्यू ―   इसमें व्यक्ति से मौखिक रूप से प्रश्न पूछे जाते हैं यह 275 मार्क्स का होता है। इसके मार्क्स टोटल में जुड़ते हैं। इसमें कैंडिडेट की पर्सनेलिटी को चैक किया जाता है ।

इन  सब परीक्षा के बाद IAS ऑफिसर का सिलेक्शन होता है लगभग हर वर्ष 1000  IAS ऑफिसर बनते हैं जिन्हें एक साल की ट्रेनिंग के लिए लाल बहादुर शास्त्री एकेडमी मसूरी भेजा जाता है जहां से वे आईएएस बन कर लौटते हैं और देश की सेवा करते हैं।

तो कैसा लगा आपको ये आर्टिकल हमें कमेंट करके जरूर बताये और हो सके तो अपने 20 सेकंड देकर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर




 
Sarkari or private job ki jankari ke liye humari website.  www.seekhe.com/en  visit kare

Wednesday, February 7, 2018

नंबर से कैसे पता करें किसी भी गाड़ी की पूरी जानकारी- Kisi bhi bike ya gadi ki puri jankari mobile se kese nikale ya pta kare


namaste deshhindi.com par aapka  swagat HAI ye technology ka jamana HAI har chiz mobile se ho jati HAI aaj me aapko btane WALA hu ki kisi bhi vehicle ki yani ni car bike waherah ki puri information apne mobile se kese pata kare to chliye shuru karte HAI

STEP 1. सबसे पहले play store se 'RTO Vehicle Information' App डाउनलोड कर लें.

STEP 2. इसके बाद इसे ओपन करें.

STEP 3. यहाँ पर आपको vehicle information सर्च करने का आप्शन होगा उस पर क्लिक कर दें.

STEP 4. इसके बाद आप यहाँ पर किसी भी गाड़ी का नंबर इंटर करें और फिर सर्च बटन पर क्लिक कर दें.

STEP 5. आपको तुरंत ही उस गाड़ी की पूरी जानकारी स्क्रीन पर शो हो जाएगी.

तो इस तरह आप online किसी भी गाड़ी की जानकरी पा सकते हैं.

आइये अब जानते हैं कि बिना इन्टरनेट के कैसे किसी भी गाड़ी की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

तो इसके लिए आप सभी को बता दूँ कि आपको एक नंबर पर गाड़ी का नंबर सेंड करना होगा और आपको तुरंत ही उस गाड़ी की सारी जानकारी दे दी जाएगी एक मेसेज के द्वारा.

STEP 1. सबसे पहले अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर मोबाइल नंबर '9898097781' इतना लिखें.

STEP 2. इसके बाद मेसेज में लिखें 'VAHAN MH21PXXXX' और इसे फिर सेंड कर दें.

यहाँ पर ध्यान रखें की स्पेस सिर्फ VAHAN के बाद देना है और उसके बाद लगातार आपको गाड़ी का नंबर लिखना है.

kuch time me us vehicle ki sari jankari aapko msg me mil jayegi

to aapko ye jankari kesi lagi niche comments karke jarur btaye ya Phir blogging internet WordPress mobile tips and tricks se related koi bhi questions puch sakte hai

Sunday, February 4, 2018

Sumit Kumar Gupta founder of www.guptatreepoint.com knowledge full interview in hindi


namaste jeisa ki meme kaha tha ki hum anubhvi or talented logo ka interview lenge aaj ye pahela interview sumit Kumar gupta ka pesh karte hai Jo www.guptatreepoint.com ke founder HAI  


Bharat सबसे पहले हम आपका पूरा नाम जानना चाहेंगे 

 Sumit Kumar Gupta मेरा नाम सुमित कुमार गुप्ता है 

 BhHarat और आप कहां के रहने वाले हैं Sumit Kumar Gupta मेरा नाम सुमित कुमार गुप्ता है और मैं झारखण्ड राज्य के पलामू जिला के नौगढ़ा का रहने वाला हूँ | फिलहाल मैं रांची में रह कर MCA की पढाई करता हूँ 


 BhHarat आप blogging की दुनिया में कब से है और आपने शुरुआत कहां से की 

 Sumit Kumar Gupta मुझे ब्लॉग्गिंग के बारे में मेरे एक सर ने 2013 में बताया था तब मैंने अपना एक ब्लॉग sumitkumarbca.blogspot.com बनाया था लेकिन उस समय मे ब्लॉग्गिंग के बारे में कुछ नहीं पता था तो मैं कॉपी पेस्ट किया करता था लेकिन जब मुझे पता चला की ब्लॉग डोमेन किसी यूनिक नाम से बनाया जाता है तब मैंने bcasoftpro.com बनाया और फिर भी मैंने कॉपी पेस्ट करता रहा और कुछ दिन के बाद मुझे adsense के बारे में पता चला तो मैंने adsense के लिए अप्लाई किया और google adsense 3 दिन के बाद approve भी हो गया और मैंने कुछ दिन तक और कॉपी पेस्ट किया लेकिन थोड़े ही दिन बाद मेरा ब्लॉग को गूगल ने ब्लाक कर दिया उसके बाद मैंने ब्लॉग्गिंग करना बंद कर दिया क्योकि मेरे पास कोई न ही मोबाइल था और न ही सिस्टम था 


BhHarat अभी आप हमारे दर्शकों को यह बताएं कि अभी आप कौन सा blog चलाते हैं 

 Sumit Kumar Gupta अभी हमारा दो ब्लॉग रन हो रहा है www.guptatreepoint.com और www.findersadda.com लेकिन मैं www.guptatreepoint.com को दिसम्बर 2017 में बनाया क्योकि मेरा ब्लॉग www.findersadda.com में बहुत सारा एरर आ गया था क्योकि मैंने उस पर बहुत सारा एक्सपेरिमेंट करने लगा था जैसे की थर्ड पार्टी https लगा दिया था और बहुत बार थीम चेंज कर दिया था इस कारन मेरे ब्लॉग के सर्च कंसोल में बहुत सारा एरर आ गया था तो मैंने फिर से एक नया ब्लॉग बनाया जिसका यूआरएल है www.guptatreepoint.com मैं आप सब से यही कहना चाहूँगा की अगर आप ब्लॉग्गिंग फील्ड में सक्सेस करना चाहते है तो अपने ब्लॉग पर ज्यादा एक्सपेरिमेंट न करे 


 BhHarat हां ज्यादा एक्सपेरिमेंट करने पर ब्लॉग पर बहुत असर पडता है अब आपसे एक निजी सवाल पूछता हूं कि आपके परिवार में कोई भी ऐसा सदस्य है जो इंटरनेट से जुड़ा हुआ कोई काम करता है या फिर आप अकेले हैं 

 Sumit Kumar Gupta हम और हमारे भैया वेब डेवलपर है तो इन्टरनेट से रिलेटेड वेब डेवेलोप करके छोटा मोटा इंस्टिट्यूट या फिर आर्गेनाइजेशन के लिए वेबसाइट बनाते है अभी हाल में हम लोगो ने एक वेबसाइट बनाया है इंस्टिट्यूट के लिए जिसका यूआरएल है www.mahifoundationdtg.org 


BhHarat चलिए हम कोई दूसरी बात करते हैं अभी आजकल हमारे भारत में bitcoin का ट्रेंड बढ़ रहा है उसके बारे में आपके क्या विचार हैं क्या बिटकॉइन में निवेश करना चाहिए या नहीं 

 Sumit Kumar Gupta हमे बित्कोइन्त के बारे में पूरी जानकारी तो नहीं है पर फिर भी मैं ये ही कहूँगा की कभी लालच नहीं करना चाहिए और हाल में ही हमारे देश का बजट पास हुआ है जिसमे ये भी कहा गया है की cryptocurrency की कोई मान्यता नहीं है मतलब की सरकार क्रिप्टो करेंसी को लीगल टेंडर नहीं मानती है BhHarat मतलब सरकार इस विषय में मान्यता नहीं देती इसके लिए यह साफ हो जाता है कि बिटकॉइन में निवेश करना खतरे से खाली नहीं है 


Sumit Kumar Gupta सही कहा आपने 

BhHarat आपका फेवरेट जिसे आप पढ़ते हैं वह ब्लॉग कौन सा है और आपका फेवरेट ब्लॉगर कौन है 


Sumit Kumar Gupta मेरा सबसे favorite ब्लॉगर जुमेदीन खान जी है और उनका ब्लॉग supportmeindia.com मेरा favorite है क्योकि मैंने यही से ब्लॉग्गिंग के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की है

 BhHarat जी हमारा भी यही फेवरेट ब्लॉग है और रोहित मेवाड़ा जी का हिंदी में हेल्प डॉट कॉम आजकल सभी के पास टाइम की बहुत कमी होती है अभी समय ही ऐसा है लेकिन कभी ऐसा हुआ है कि आपको किसी की मदद करने की बहुत इच्छा हो लेकिन समय की कमी की वजह से या फिर कोई और प्रॉब्लम की वजह से नहीं कर पाए हो 


 Sumit Kumar Gupta हा ऐसा मेरे साथ बहुत बार हुआ है क्योकि उस टाइम मेरा एग्जाम चल रहा था और और मेरा नेट बहुत ही धीमा कम कर रहा था इसीलिए मैंने दो से तिन लोगो का उस समय कम नहीं कर पाया लेकिन मुझे जब भी फ्री टाइम मिलता है तो मैं दुसरे की हेल्प कर देता हूँ क्योकि मुझे इसमें बहुत खुसी मिलती है


 BhHarat अब आपसे मैं यह पूछना चाहता हूं कि हमारे भारत में सबसे ज्यादा एक्सपर्ट पैदा होते हैं लेकिन फिर भी हमारे देश में बहुत सारे लोगों को कंप्यूटर मोबाइल और टेक्नोलॉजी की बेसिक जानकारी भी नहीं है इसे आप पिछली सरकारों की काम करने की कमी समझते हैं या फिर कुछ और 


Sumit Kumar Gupta हमारे भारत में बहुत सारे एक्सपर्ट है पर सभी बड़े बड़े एक्सपर्ट दुसरे देशो में काम करने चले जाते हैं क्योकि हमारे भारत में उनको बहुत ज्यादा पैसा नहीं मिल पता है . जहाँ तक बात है मोबाइल और टेक्नोलॉजी की बेसिक जानकारी के बारे में तो मैं बता दूँ की इसमें सरकार की काम करने की कमी हम नहीं समझते है क्योकि मेरे देश में बहुत सारे लोग गरीब है और इस कारन उनके पास मोबाइल और टेक्नोलॉजी उपलब्ध नहीं होता है तो ऐसे में वो टेक्नोलॉजी के बारे में नहीं जानते है लेकिन अब ऐसा नहीं है क्योकि हमारा देश डिजिटल इंडिया बन रहा है और ऐसे में जिओ भी बहुत काम आया है डिजिटल इंडिया बनाने में क्योकि अब गाँव के भी लोग इन्टरनेट से familier हो चुके है 

 BhHarat जी बेशक जिओ के आने के बाद भारत में 1 तरह की इंटरनेट क्रांति हो गई है ब्लॉगर एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिस पर हम अपने विचार दुनिया के सामने बिना किसी रोक-टोक के रख सकते हैं अभी एक ब्लॉगर हैं तो आप यह बताएंगे एक ब्लॉगर के लिए सबसे ज्यादा किस चीज पर ध्यान देना चाहिए


 Sumit Kumar Gupta एक ब्लॉगर को सबसे पहले तो ये चाहिए की जो वो अपने ब्लॉग पर शेयर कर रहे है वो काम की चीज होने चाहिए मतलब की सही जानकारी होनी चाहिए जिससे की रीडर को आसानी में समझ आ जाये और दूसरी बात एक ब्लॉगर को हमेशा नए चीजो के बारे में अपडेट होना चाहिए ताकि अपने रीडर्स को आसानी से नए चीजो के बारे में बता सके 

 BhHarat आपके हिसाब से blogging करने का सबसे बेस्ट प्लेटफार्म कौन सा है ब्लॉगर या फिर वर्डप्रेस भाई आपको कंटाला तो नहीं आ रहा ना 


Sumit Kumar Gupta हमारे हिसाब से ब्लॉग्गिंग करने का सबसे बेस्ट प्लेटफार्म वर्डप्रेस है क्योकि ये बहुत सारा प्लगइन प्रोवाइड करता है जो की पोस्ट लिखने में बहुत ही हेल्पफुल होता है और दूसरी बात ये है की वर्डप्रेस पर आपको बहुत सारे seo प्लगइनस मिल जाते है जो ब्लॉग को बहुत अछे से seo फ्रेंडली बना देते है वर्डप्रेस पर सबसे अच्छा फैसिलिटी हमे ये लगा की अगर आप कोई भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में जानकारी दे रहे है तो आपको कोई भी प्रोग्राम लिखने अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखने के लिए आपको टेक्स्ट मोड में नहीं जाना पड़ेगा आप सिम्पली visual मोड में ऐड कर सकते है और सबसे खास बात वर्डप्रेस का यह है की इसमें हमे adsense की कोडिंग बार बार पोस्ट में ऐड नहीं करना पड़ता है 



BhHarat क्या हैकिंग के बारे में कुछ जानते हैं 

Sumit Kumar Gupta जी नहीं मुझे हैकिंग के बारे में कुछ नहीं पता है 

 BhHarat आजकल ब्लोगर्स के दुश्मन बहुत बन रहे हैं क्या आप भी किसी की दुश्मनी का शिकार हुए हैं 


Sumit Kumar Gupta अभी तक तो वैसे किसी दुश्मनी का शिकार नहीं हुवे है क्योकि मैंने किसी का कुछ नहीं बिगाड़ा है और हाल में ही मुझे एक फेक आईडी से दुश्मनी का मेल आया था पर मैं उसे इगनोरे कर दिया मैं भगवान से यही प्राथना करता हूँ की कभी किसी के साथ ऐसा न हो 

 BhHarat जी बिल्कुल हम भी यही प्रार्थना करते हैं आजकल कॉपी पेस्ट बहुत ही बढ़ रहा है इसके बारे में आपका क्या विचार है

 Sumit Kumar Gupta जैसा की मैंने पहले ही बता दिया है की मैं सुरुआती दौर में कॉपी पेस्ट किया करता था जिसके कारन मेरा ब्लॉग को गूगल ने ब्लाक कर दिया था तो मैं लोगो से यही कहना चाहूँगा की अगर आप ब्लॉग्गिंग में अच्छा नाम कमाना चाहते है तो कभी भी कॉपी पेस्ट न करे क्योकि इससे आप नाम तो नहीं कमाएंगे लेकिन बदनाम जरुर हो जायेंगे 


BhHarat जी यह तो एकदम बिल्कुल साफ बात है आजकल vpn बहुत चर्चा में है क्या आप इसके बारे में कुछ जानते हैं

 Sumit Kumar Gupta vpn का मतलब होता है virtual private network जो की नेटवर्क को प्राइवेट बनाने का काम करता है लेकिन मुझे इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं है मैंने भी कल ही पढ़ा था vpn के बारे में की कुछ लोग vpn का इस्तेमाल करके google adsense का गलत उपयोग कर रहे थे मतलब की खुद से अपने गूगल अद्सेंसे एड्स पर क्लिक कर रहे थे जिससे की कुछ लोगो को जेल भी भेजा गया है

 BhHarat एक परफेक्ट ब्लॉग में क्या-क्या चीजें और क्या-क्या पेज होने चाहिए Sumit Kumar Gupta एक परफेक्ट ब्लॉग में डिजाईन अच्छा होना चाहिए और पेजेज की बात करे तो about us, contact us, privacy policy ये तिन पेज जरुर ऐड होना चाहिए और साथ ही साथ ज्यादा विजेट का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए BhHarat मुझे लगता है कि कुछ लोग गूगल एडसेंस की पॉलिसी को बहुत हार्ड बताते हैं लेकिन इतनी हार्ड नहीं है आप क्या मानते हैं 


Sumit Kumar Gupta मेरा मानना है की गूगल अद्सेंसे की पालिसी बहुत ज्यादा हार्ड नहीं है पर फिर भी नए लोगो के लिए ये हार्ड लगता है अगर आप google अद्सेंसे पालिसी को अछे से समझ लेंगे तो ये हार्ड आपको नहीं लगेगा और मैंने तो यहाँ तक देखा है की बहुत सारे ब्लॉगर गूगल adsense की पालिसी में खुद से भी कुछ ऐड कर के लिख देते है जिससे नए यूजर बहुत ही कंफ्यूज हो जाते है BhHarat मतलब यह तो साफ बात है कि Google की पॉलिसी इतनी हार्ड नहीं है 

Sumit Kumar Gupta ji ha BhHarat एक ब्लॉक पैसे कमाने के लायक कब बनता है Sumit 

Kumar Gupta एक ब्लॉग पैसे कमाने के लायक तब बनता है जब उस पर रीडर्स की संख्या अछि हो मेरा कहने का मतलब यह है की कम से कम 200 visitors प्रतिदिन हो तभी उससे पैसा कमाना स्टार्ट किया जा सकता है ये स्टार्टिंग पॉइंट है अगर आप अछे पैसे कमाना चाहते है तो इससे ज्यादा विसिटोर्स की आवश्यकता है


 BhHarat जी आपकी बात से मैं बिल्कुल सहमत हूं कुछ लोग कोपी करने लग जाते हैं और फिर डीमोटिवेट हो जाते हैं और फिर ब्लॉगिंग ही छोड़ देते हैं

 Sumit Kumar Gupta ही हाँ और अपने तो ब्लॉग्गिंग छोड़ते ही है और दुसरे लोगो को भी बता देते है की ब्लॉग्गिंग छोड़ रहा हूँ इससे दुसरे लोगो का भी धैर्य टूट जाता है 

Bharat - blogging karne par aapko paise na mile to aap blogging karenge ?

 Sumit Kumar Gupta देखिये मैं अभी ब्लॉग्गिंग पैसे कमाने के नियत से नहीं कर रहा हूँ और मेरा यही सोच है की ब्लॉग्गिंग को पार्ट टाइम ही रखूँगा जीवन भर| मैं ब्लॉग्गिंग इस लिए करता हूँ क्योकि मुझे इससे लिखने का प्रैक्टिस हो जाता है और साथ ही साथ नए चीजो के बारे में जानकारी मिल जाती है, ये सब जानकारी मुझे बहुत ही जरुरी लगती है क्यूकी मैं एक टेक्निकल स्टूडेंट हूँ तो मुझे इसकी आवश्यकता पडती है

 BhHarat जी इसमें सीखना और सिखाना दोनों काम हो जाते हैं आखिर में आप ने bloggers के लिए कुछ कहना चाहेंगे

 Sumit Kumar Gupta मैं सभी नए ब्लोग्गेर्स को यही कहना कहूँगा की शुरुवाती दौर में ही पैसो के बारे में न सोचे अपने ब्लॉग पर अच्छा आर्टिकल पब्लिश करे और कभी भी किसी का बुरा न करे धन्यवाद 


BhHarat जी सुमित गुप्ता जी आपने हमारे लिए अपना इतना वक्त दिया और नए ब्लोगर कुछ सीख सकें ऐसी जानकारी आप ने दी उसके लिए आपका तहे दिल से धन्यवाद 

 Sumit Kumar Gupta आपका स्वागत है

Note---Mere pass or bahot sare savalo ki list HAI unke javab sab logo ke liye faydemud rahenge agar aap kuch sikhna chahte HAI to fir milenge ek or interview ke sath

Apna comment dekar jarur btaye ki aapko ye interview kesa laga

Saturday, February 3, 2018

सलमान खान का जीवन और सफलता की कहानी salman khan biography and success story in hindi

सलमान ख़ान

सलमान खान का पूरा नाम ‘अब्दुल रशीद सलीम सलमान खान ‘(उर्दू: سلمان خان उच्चारण : Salman khan, जन्म : 27 दिसम्बर 1965) ये एक भारतीय फिल्म अभिनेता, निर्माता और एक प्रसिद्ध टेलीविज़न कलाकार है। लोग उन्‍हें प्‍यार से सल्‍लू भाई, भाईजान आदि नामों से पुकारते हैां उन्‍होंने अपने करियर में कई छोटी-बड़ी फिल्‍मों में काम किया और धीरे धीरे उनके प्रशंसकों की संख्‍या लगातार बढ़ती गईा उन्‍होंने इंडस्‍ट्री में अपना एक अलग मुकाम स्‍थापित किया है और वे हिंदी सिनेमा के अग्रणी अभिनेताओं में से एक हैं। मौजूदा समय में उन‍की फैन फालोइिंग का ये आलम है कि उनके घर (गैलक्‍सी अपार्टमेंट्स) के बाहर उनके चाहने वालों की भीड़ लगी रहती है। उनके फैंस की दीवानगी कुछ ऐसी है कि उनकी एक झलक पाने के लिए उनके प्रशंसक बेताब रहते हैं।

शुरूआती जीवन

सलमान खान ये चलचित्र लेखक सलीम खान और उनकी पहली पत्नी सुशीला चारक (सलीम खान की पहली पत्नी) के सबसे बड़े बेटे है. उनके पिता के पैतृक ये अफगानिस्तान के पश्तून से थे जो बाद में इंदोर, मध्यप्रदेश आके बसे।  खान भाइयो की माता ये हिंदु थी, जिसके पिता बलदेव सिंह चरक जम्मू-कश्मीर से आये थे और माता महाराष्ट्र से।  सलमान खान ये बताते है की वे हिंदु और मुस्लिम दोनों ही है।

सलमान ख़ान (Salman Khan) की सौतेली माँ हेलेन है, जो खुद भी अभिनेत्री थी, जो उनके साथ कई फिल्मो में सह-अभिनेत्री भी रह चुकी है. सलमान खान को दो भाई है, अरबाज़ खान जिन्होंने एक अभिनेत्री से शादी की जिसका नाम मल्लिका अरोरा खान है और दुसरे भाई सोहिल खान है और दो बहने अलविरा खान अग्निहोत्री जिसने अभिनेता अतुल अग्निहोत्री से शादी कर ली।

 सलमान खान ने अपने भाईयों अरबाज़ व सोहेल की ही तरह बांद्रा स्थित सेंट स्टेनिस्लॉस हाई स्कूल के माध्यम से अपनी स्कूली शिक्षा समाप्त की। इससे पहले उन्होंने ग्वालियर स्थित सिंधिया स्कूल में अपने छोटे भाई अरबाज़ से साथ कुछ वर्ष पढ़ाई की।

करियर

सलमान खान ने अपने अभिनय करियर की शुरूआत सहायक अभिनेता के तौर पर फिल्‍म 'बीवी हो तो ऐसी' से की थी। मुख्‍य अभिनेता के तौर पर उनकी पहली फिल्‍म 'मैंने प्‍यार किया' थी जो कि सुपरहिट रही थी। बॉलीवुड फिल्म में उनकी पहली प्रमुख भूमिका सूरज आर. बड़जात्या की रोमांस फिल्म ‘मैनें प्यार किया’ (1989) में थी। यह फिल्म भारत की सर्वाधिक कमाई वाली फिल्मों से एक फिल्म बन गई। इस फिल्म के लिए उन्हें फ़िल्मफ़ेयर का सर्वश्रेष्ठ नए अभिनेता का पुरस्कार मिला व ‘फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता’ के पुरस्कार के लिए नामांकन भी प्राप्त हुआ।

निजी जीवन

सलमान खान एक समर्पित बॉडीबिल्डर हैं। वे प्रतिदिन मेहनत करते हैं और मूवी तथा स्टेज शो में अपनी कमीज उतारने के लिए प्रसिद्ध हैं। अमरीका की ‘People’ पत्रिका द्वारा वर्ष 2004 में इन्हें दुनिया का 7वां सबसे सुंदर पुरूष और भारत के सबसे सुंदर पुरूष का खिताब मिला। अपने कैरियर में खान विभिन्न धर्मार्थ संस्थाओं से जुड़े हुए हैं।[18] बहुत सी अभिनेत्रियों के साथ रोमांस और अपनी पूर्व प्रेमिका ऐश्वर्या राय, सोमी अली और संगीता बिजलानी के साथ संबंधों के बावजूद खान भारतीय मीडिया जगत में बालीवुड का सबसे चहेता कुंवारा अभिनेता बनता रहा है। वे 2003 से ही मॉडल से अभिनेत्री बनी कैटरीना कैफ के साथ डेटिंग करते आ रहे थे।

सलमान खान से जुड़ी दिलचस्‍प बातें

उनकी पहली फिल्‍म ‘मैंने प्‍यार किया’ को इंग्लिश में 'वेन लव काल्‍स' नाम से डब किया गया था जो कि गुयाना के कैरिबियन मॉर्केट में सबसे बड़ी हिट फिल्‍म रही थी।यह फिल्‍म और कई जगहों और भाषाओं में रिलीज की गई और हर जगह इसने कामयाबी के झंडे गाड़े।फिल्‍म 'तेरे नाम' उनके करियर की काफी अच्‍छी फिल्‍म रही। इस फिल्‍म को दर्शकों के साथ-साथ आलोचकों ने भी हिट करार दिया और यह फिल्‍म सलमान के करियर की बेस्‍ट फिल्‍म मानी जाती है।

2009 में आई फिल्‍म 'वांटेड' उनके करियर का टर्निंग प्‍वाइंट रही। इस फिल्‍म में से वे एक्‍शन फिल्‍मों के सुपरस्‍टार बन गए। 

सलमान ने कई लोगों की मदद की है वो चाहे इंडस्‍ट्री में पैर जमाने में मदद करना हो या फिर किसी को पैसों से। वे हमेशा सभी के सुख दुख में आगे आकर खड़े हुए हैं। कैटरीना कैफ, असिन, सेनाक्षी सिन्‍हा, अर्जुन कपूर, हिमेश रेशमिया ऐसे प्रमुख नाम हैं जिन्‍हें फिल्‍म इंडस्‍ट्री में सलमान ने बहुत मदद की है।सलमान खान ही वो अभिनेता थे जिन्‍होंने बिग बॉस को होस्‍ट किया और इसने भी टीआरपी के अपने पुराने सारे रिकार्ड तोड़े। इस रियलटी शो में सलमान द्वारा की जाने वाली होस्टिंग को खूब पसंद किया गया।जनवरी 2012 में भी उन्‍होंने लोगों की मदद तब की जब करीबन 400 कैदी अपने जेल में बिताए गए समय को तो पूरा चुके थे लेकिन सिर्फ इस वजह से बाहर नहीं आ पा रहे थे क्‍योंकि उन पर पैसों का भी जुर्माना लगा था। तब सलमान ने तकरीबन 400 मिलीयन की मदद की थी। उत्‍तर प्रदेश के 63 जेलों में से 400 कैदियों को उनके एनजीओ के जरिए रिहा कराया गया।2004 में यूएसए की पीपुल मैगजीन ने सलमान को दुनिया का सातवां सबसे हैंडसम आदमी का स्‍थान दिया था। 2008 में सलमान की वैक्‍स की मूर्ति को लंदन के मैडम तुसाद संग्राहलय में स्‍थापित किया गया और 2012 में एक बार फिर वैक्‍स की दूसरी मूर्ति को न्‍यूयार्क के मैडम तुसाद संग्राहलय में स्‍थापित किया गया।पिछले कुछ समय से कमाई के मामले में वे अन्‍य अभिनेताओं की अपेक्षा काफी आगे हो गए हैं। एक्‍शन फिल्‍मों में लोग उन्‍हें ज्‍यादा पसंद करते हैं। उन्‍हीं फिल्‍मों ने कमाई के नए कीर्तिमान स्‍थापित किए जिनमें वे एक्‍शन अवतार में थे।

Thursday, February 1, 2018

अक्षय कुमार का जीवन और सफलता कहानी Akshay kumar biography and success story hindi by-deshhindi.com

अक्षय कुमार
अक्षय कुमार (पंजाबी: ਅਕਸ਼ੈ ਕੁਮਾਰ, जन्म: राजीव हरी ओम भाटिया, 1 सितम्बर, 1967) अक्षय का असली नाम ‘राजीव हरिओम भाटिया’ है, एक मशहूर फिल्म अभिनेता होने के साथ साथ वे निर्माता और मार्शल आर्टस में भी पारंगत हैं। प्यार से लोग उन्हें ‘अक्की’ भी कहते हैं। अक्षय कुमार ने 125 से ऊपर फिल्मों में काम किया है। उन्हें कई बार उनकी फिल्मों के लिए फिल्मफेयर अवार्डस में नामांकित किया गया है जिसमें से दो बार उन्होंने यह पुरस्कार जीता हैै। हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में वह लंबे समय से काम कर रहे हैं और अपने अनुशासित स्वभाव और दिनचर्या के लिए भी जाने जाते हैं। ‘खिलाडि़यों के खिलाड़ी’ नाम से मशहूर अक्षय अपनी फिल्मों में ज्यादातर स्टंट स्वयं ही करते हैं।
करियर
मुख्य अभिनेता के तौर पर अक्षय के करियर की शुरूआत ‘सौगंध’ फिल्म से हुई। इसके पहले भी मार्शल आर्टस के प्रशिक्षक के रोल में उन्हें ‘आज’ फिल्म में मौका मिला लेकिन उसमें उनकी बिना श्रेय भूमिका थी। शुरूआती दौर में उनकी फिल्मों को खास प्रतिक्रिया नहीं मिली लेकिन उनकी खिलाड़ी सीरीज की फिल्मों ने उन्हें बाॅलीवुड का ‘खिलाड़ी कुमार’ बना 1997 में, यश चोपड़ा की हिट फ़िल्म दिल तो पागल हैमें मेहमान कलाकार की भूमिका निभाई, जिसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक कलाकार के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार में नामांकन हुआ। उसी साल, वे खिलाड़ी श्रेणी के पांचवें फ़िल्म मिस्टर एंड मिसेज़ खिलाड़ी में हास्य भूमिका में नजर आए।खिलाड़ी टायटल के साथ उनकी पिछली फिल्मों की तरह, यह फ़िल्म हिट हुई। और इस तरह इस फ़िल्म की तरह, उनका अगला खिलाड़ी नाम से रिलीज सारी फिल्में आने वाले साल में बॉक्स ऑफिस पर हिट होते चला गया। 1999 में, कुमार को फ़िल्मसंघर्ष' और जानवर में उनके किरदार के लिए अच्छी सराहना मिली।जबकि पहली फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सफल हो सकी, पर बाद में उन्हें सफलता मिली।
2000 में हास्य फ़िल्म ‘हेरा फेरी’ में अभिनय किया जो हर लिहाज से सफल रही,[10] और इस फ़िल्म में उन्होंने अपने आपको एक एक्शन और रोमांटिक भूमिकाओं की तरह एक सफल हास्य रोल भी अच्छी तरह निभाया।उन्होंने रोमांटिक फ़िल्म धड़कन में भी काम किया और बाद में उसी साल उसे काफ़ी सफलता मिली।[10] 2001 में, फ़िल्म ‘अजनबी’ में कुमार ने एक नकारात्मक किरदार निभाया। उनकी फ़िल्म को काफी सराहा गया तथा बेस्ट विलेन के लिए पहला फ़िल्मफेयर पुरस्कार मिला ।
हेरा फेरी की सफलता के बाद अक्षय कुमार ने कई हास्य फिल्मों में काम किया, जिनमें शामिल हैं ‘आवारा पागल दीवाना’(2002), ‘मुझसे शादी करोगी’ (2004) और गरम मसाला(2005)। यह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर बेहद सफल रही और उनके अभिनय के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ हास्य कलाकार का दूसरा‘फिल्मफेयर पुरस्कार’ मिला।
वर्ष 2007 अक्षय कुमार के लिए उनके कैरियर का इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा सफल वर्ष रहा और बॉक्स ऑफिस के विश्लेषकों ने "शायद एक अभिनेता के लिए चार सीधे हित और बिना किसी फ्लॉप के शानदार वर्ष रहा।उनकी पहली रिलीज, नमस्ते लंदन, आलोचनात्मक दृष्टि व कामर्शियल दृष्टि से सफल रही।आलोचक तरण आदर्श ने फ़िल्म में उनके प्रदर्शन के बारे लिखा कि वे निश्चित रूप से फ़िल्म देखने लाखों दर्शकों का मन अपनी इस फ़िल्म के जरिये लेंगे।"उनकी दो अगली रिलीज हे बेबी औरभूल भुलैया दोनों बॉक्स ऑफिस पर सुपर हिट हुई। वर्ष का कुमार के लिए आखिरी रिलीज वेलकम थी जिसने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन किया, ब्लोकबस्टर का अवसर मिला तथा साथ में वे पांचवीं लगातार हिट फ़िल्म देने वाले हीरो बन गए । उस वर्ष कुमार की जितनी भी फिल्में रिलीज हुई वह विदेशी बाजार में भी अच्छा प्रदर्शन किया।
अक्षय कुमार से जुड़ी रोचक बातें
matically adapt its size to the space available on the page.   Learn more
Ad code

● अक्षय कुमार का असली नाम राजीव भाटिया है। वह आर्मी अफसर हरिओम भाटिया के बेटे हैं। अक्षय कुमार के होम प्रोडक्शन का नाम भी उनके पिता के नाम पर है- हरी ओम प्रोडक्शंस।
● अक्षय को बचपन से ही मार्शल आर्ट्स और तायकांडो का शौक था। वह तायकांडो में ब्लैक बेल्ट से सम्मानित भी किये जा चुकें हैं। उन्होंने बैंगकॉक में मुए थाई भी सीखा है।
● अक्षय कुमार फिल्म अभिनेता बनने से पहले बैंगकॉक में वेटर और कुक का काम करते थे।
● अक्षय कुमार हिंदी सिनेमा का जाना-माना नाम हैं, लेकिन वह इसका शो ऑफ़ कभी भी पब्लिकली नहीं करते, वो यही चीज अपने बच्चो को बताते हैं। इतना ही नहीं जब उन्होंने अपनी बेटी नितारा का एडमिशन प्ले स्कूल में कराया था. तो आम मां-बाप की तरह उन्होंने भी लाइन में लगकर अपनी बारी की प्रतीक्षा थी।
● अक्षय कुमार के पास पैसे की कमी नहीं है लेकिन वह महीने में सिर्फ पांच से दस हज़ार ही खर्च करते हैं।
● अक्षय कुमार शाम 7 बजे से पहले अपना डिनर करते हैं। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा, कि 7 बजे के आपकी शरीर कैलोरी को बर्न नहीं करती। मैं सुबह भी जल्दी उठता हूँ ताकि अपने रूटीन को फॉलो कर सकूँ।
● अक्षय कुमार नें अपने फ़िल्मी करियर में करीब आठ फिल्मों में विजय और सात फिल्मों में राज का किरदार निभाया है।
● कलर्स शो खतरों के खिलाडी होस्ट करने के अलावा वह नेशनल जियोग्राफिक चैनल के लिए मार्शल आर्ट्स डॉक्यूमेंट्री 'सेवन डेडली आर्ट्स विद अक्षय कुमार भी होस्ट कर चुके हैं।
● हिंदी सिनेमा में अक्षय का दूसरा नाम एक्शन खिलाड़ी है उसके पीछे भी एक कारण हैं। दरअसल हिंदी सिनेमा में अक्षय ने करीब आठ फ़िल्में की हैं जो खिलाड़ी नाम से हैं-खिलाडी, मैं खिलाडी तू अनाड़ी, खिलाड़ीयों का खिलाड़ी, इंटरनेशनल खिलाड़ी, सबसे बड़ा खिलाड़ी, मिस्टर एंड मिसेज खिलाड़ी, खिलाड़ी 420, खिलाड़ी 786।
अफेयर
1-अक्षय की पहली गर्लफ्रेंड पूजा बत्रा
कहा जाता है कि फिल्मों में आने से पहले अक्षय का अफेयर उस दौर की मशहूर मॉडल पूजा बत्रा के साथ था। यहां तक की दोनों की सगाई भी हो चुकी थी लेकिन फिल्मी दुनिया की चकाचौंध का असर इस रिश्ते पर पड़ा और दोनों अलग हो गए।
2-रेखा से भी रहा अफेयर
अपनी हमउम्र हीरोइन्स से रोमांस करने के लिए मशहूर अक्षय कुमार के अफेयर के चर्चे बॉलीवुड की एवरग्रीन हिरोइन रेखा के साथ भी सुनाई दिए। माना जाता है कि फिल्म 'खिलाड़ियों का खिलाड़ी' की शूटिंग के दौरान दोनों एक दूसरे के काफी करीब आ गए थे। रेखा उम्र में अक्षय से काफी बड़ी थीं। जिस वजह से यह अफेयर काफी कॉन्ट्रोवर्शियल रहा, हालांकि रेखा और अक्षय दोनों ने ही इस बारे में मीडिया में हमेशा कुछ भी कहने से बचते हुए नजर आएं।
3-रवीना के भी दीवाने रह चुके खिलाडी कुमार
शिल्पा शेट्टी से पहले अक्षय कुमार का अफेयर बॉलीवुड एक्ट्रेस रवीना टंडन के साथ था। रवीना टंडन अपने दौर की बेहद ग्लैमरस हिरोइंस की फेहरिश्त में शामिल थी। यह भी कहा जाता है कि जिस समय अक्षय रवीना को डेट कर रहे थे, ठीक उसी समय वह शिल्पा को भी डेट कर रहे थे। शायद इसी वजह से रवीना ने अक्षय से अपने रिश्ते को खत्म करना ही बेहतर समझा और दोनों की राहे एक-दूसरे से जुदा हो गईं।
5-पहले प्रेमिका बाद में पत्नी बनी ट्विंकल
17 जनवरी 2001 को ट्विंकल खन्ना के साथ शादी के बंधन में बंधे अक्षय आज एक खुशहाल शादीशुदा जिंदगी जी रहे हैं। लेकिन बहुत कम लोग ये बात जानते है कि अक्षय, ट्विंकल से शादी करने के मूड में नहीं थे, लेकिन ट्विंकल की मां डिपंल कपाड़िया के दबाव के आगे अक्षय कुमार को झुकना पड़ा और आखिरकार दोनों ने शादी कर ली। दोनों के दो बच्चे भी हैं। शादी के बाद अक्षय ने अपनी प्ले ब्वॉय इमेज छोड़ दी और आज दोनों खुशहाल जिंदगी बिता रहे हैं।

Wednesday, January 31, 2018

1971 भारत और पाकिस्तान युद्ध का इतिहास और कुछ रोचक जानकारी 1971 india pakistan war history in hindi

सन 1971  का युद्ध भारत और पाकिस्तान के बीच में एक संघर्ष था हथियारबंद लड़ाई में दोनों मोर्चों पर 14 दिन बाद संपन्न हुआ पाकिस्तानी सेना और पूर्वी पाकिस्तान के बीच की लड़ाई के बाद बंटवारा हुआ और बांग्लादेश का जन्म हुआ 97368 पाकिस्तानी जो पूर्वी पाकिस्तान में थे 79900 पाकिस्तानी सैनिक और  अर्थ लष्करी दल और 12000 नागरिकों के साथ दोनों देशों के बीच Batwara खत्म हुआ

राजनीतिक हलचल

लड़ाई शुरू होने के 2 महीने पहले अक्टूबर 1971 में नौसेना अध्यक्ष एसएम नंदा भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से मिलने गए नौसेना की तैयारियों को बताने के बाद उन्होंने प्रधानमंत्री से पूछा कि अगर नौसेना पाकिस्तान पर हमला करें तो क्या उसकी राजनीतिक से  कोई  आपत्ति तो नहीं 

इंदिरा गांधी ने हां या ना में जवाब लेने से पहले यह पूछ लिया कि आप ऐसा क्यों पूछ रहे हैं सुनंदा ने जवाब दिया कि 1965 के बाद नौसेना को खास कहा गया था कि भारत की सीमा के बाहर किसी भी तरह के कार्यवाही ना करो इसलिए हमें बहुत सारी परेशानियां उठानी पड़ रहे हैं तो इंदिरा गांधी ने जवाब दिया कि नंदा जी अगर war है war है,  चंद्र नंदिनी नंदा ने धन्यवाद किया और कहा कि मैडम मुझे मेरा जवाब मिल गया

युद्ध की रणनीति

दिल्ली से लिफाफे में कराची पर हमला करने की योजना भेज दी गई और 1 December 1971 को सभी युद्धपोतों को हमला करने के आदेश जारी कर दिए गए पूरा वेस्टर्न फ्रिज 2 दिसंबर को मुंबई से कराची की ओर रवाना हो गया और उनसे कहा गया कि जो आपको ऑर्डर के लिफाफे मिले हैं उन्हें युद्ध के थोड़े समय पहले ही खोलें अभी नहीं

योजना थी कि नौसेना का पूरा बेड़ा कराची से 250 किलोमीटर तक दूरी बनाए रखें और शाम होते होते 150 किलोमीटर की दूरी तक पहुंच जाए

और अंधेरे में हमला करने के बाद पौ फटने से पहले अपनी तेज रफ्तार से 150 किलोमीटर दूरी तक आ जाएंगे ताकि पाकिस्तानी  बम हमले की सीमा से बाहर आ जाएंगे और हमला रशियन ओसा क्लास  मिसाइल bot  से किया जाएगा और वो खुद वहां तक नहीं जाएगी उससे नायलॉन की रस्सियों से खींचकर वहां तक पहुंचा जाएगा और ऑपरेशन ड्राई डेट्स के तहत मिसाइलों द्वारा पहला हमला कर दिया गया
सारे मिसाइल bot चार चार मिसाइलों से लैस  थी

खेबर डूबा

विजय  जरथ की अगुवाई में कराची पर हमला किया गया कराची से 40 किलोमीटर दूर रडार के द्वारा उन्हें कुछ हरकत महसूस हुई और उन्हें एक पाकिस्तानी युद्धपोत अपनी और आता दिखाई दिया यादव ने दुर्घट को आदेश दिया कि वह अपना रास्ता बदले और पाकिस्तानी जहाज पर हमला करें  , दुर्घट ने 20 किलोमीटर दूर से पाकिस्तानी जहाज पर मिसाइलें छोड़ दी और पाकिस्तानियों को लगा क्यों उनकी तरफ आता हुआ मिसाइल नहीं पर  विमान है और वह लोग मिसाइलों द्वारा हमला करने लगे पर खुद को निशाना बनने से नहीं बचा पाए फिर से 17 किलोमीटर की दूरी पर है एक और बार मिसाइल छोड़ने का आदेश दिया गया और इस बार पाकिस्तानी जहाज गति 0 हो गए और वह डूब गया और लंबी लड़ाई चली इस बारे में मैं आपको कभी और बताऊंगा क्योंकि पोस्ट बहुत लंबा हो जाएगा अब बात करते हैं कुछ मुख्य बात होगी

युद्ध के दरमियान कराची के ऑयल डिपो पर आग लग गई और धुंआ निकलने लगा कराची में लगी ऑयल डिपो की आग को 7 दिन और साथ रात तक नहीं  बुझा  पाय अगले दिन जब भारतीय वायुसेना  उन पर हमला करने गए तो उन्होंने रिपोर्ट कि यह एशिया का सबसे बड़ा बोन फायर था

और कराची पर इतना dhua छा गया कि 3 दिन तक वहां पर सूरज की रोशनी तक नहीं पहुंच पाई

युद्ध का परिणाम

3 दिसंबर 1971 में पाकिस्तान द्वारा भारतीय चौकियों पर हमला करने के बाद भारतीय सेना द्वारा पूरे पाकिस्तान को आजाद कराने का अभियान चलाया गया

भारतीय सेना को ढाका को मुक्त कराने का लक्ष्य रखा ही नहीं गया और इस पर बहुत सारी बातचीत भी हुई

और पिक्चर भागती हुई पाकिस्तानी सेना ने भागते-भागते फुल  pull तोड़ती चली गई और भारतीय अभियंता को रोकने की कोशिश की

13 दिसंबर आते आते भारतीय सेना कॉ बांग्लादेश की इमारतें नजर आने लगी थी और अब पाकिस्तान के पास लड़ने के लिए सिर्फ 26400 सिपाही थे और भारतीय सेना के पास 30000 सिपाही वहां पर मौजूद थे पर फिर भी पाकिस्तानी सेना अपना मनोबल खो चुकी थी

1971 के वयुद्ध में सीमा बल और  मुक्ति वाहिनी दल ने  अहम भूमिका निभाई और पाकिस्तानी सैनिकों से आत्मसमर्पण करवाया

फिर भी यह एकतरफा लड़ाई नहीं थी जमालपुर की ओर भारतीय सेना को बहुत- संघर्ष का सामना करना पड़ा

करीबन डेढ़ करोड़ बांग्लादेशियों ने अपने घरों को छोड़ कर भारत की सीमा पर शरणागति ली और भारतीय वायुसेना ने जगह जगह हमने कर कर पाकिस्तानी सैनिकों को घुटनों पर ला दिया और इसी तरह यह लड़ाई खत्म हुई

तो दोस्तों कैसी लगी हमारी यह जानकारी अगर अच्छी लगी हो तो अपना कमेंट करना ना इस युद्ध में पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया

भूलें
.........thank you........

Wednesday, January 10, 2018

free unlimited paytm cash kese kamaye in hindi -how to earn unlimited paytm cash by-deshhindi.com

Desh Hindi में आपका स्वागत है मेरा नाम संदीप है और ये मेरी deshhindi.com पे पहली 
Guest Post है  आज मैं आपको एक एप्प के बारे में बताने वाला हु जिसका Use करके आप 
Daily का 500 - 1000 तक कमा सकते है ये एक नई एप्लीकेशन है जो 1st january 2018 को लांच हुवा है 
और खास बात ये है की ये एप्लीकेशन एक refer करने पर 500 पॉइंट देती है 

इस अप्प का नाम Pista Money है और ये Trusted एप्प है जो अपने यूजर को 100% पैसे देती है 
 तो चलिए सिख लेते है की pista money से पैसे कैसे कमाते है 


Pista Money से पैसा कैसे कमाए 

सबसे पहले अप्प को डाउनलोड करना होगा अप्प को डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करे  https://goo.gl/rkK2AL


अप्प को डाउनलोड करने के बाद इसको खोले फिर आपके सामने login का पेज खुलेगाखुलेगा



यहाँ Sign up पे क्लिक करे 

फिर Signup का पेज खुलेगा


इसमें आपको अपना नाम , मोबाइल नो. , और refer id लिखना है 

Your Mobile Number  - इसमें अपना मोबाइल नंबर लिखे सही नंबर ही लिखे क्युकी पैसे आपको ऐसी नंबर पे मिलेंगे 

Enter Password  - इस बॉक्स में अपना पासवर्ड लिखे जो आपको याद रहे Login करते वक्त आपसे ये पासवर्ड पूछेगा 

Referral Number - इसमें आप 1234 लिख सकते है या किसी की refer id है तो उसे लिख सकते है 
मेरा refer id - 7458821168 

सब कुछ लिखने के बाद Signup पे क्लिक करे signup पे क्लिक करने के बाद एक नई पेज खुल जायेगा नीचे image में देख सकते है 


इस पेज पे आपको अपना मोबाइल नंबर , आपका पॉइंट और कितने लोग को अपने रेफेर किया है ये सब देख सकते है 

और जब 1000 हो जाने पर पैसा को निकाल (Reedim) सकते है 
पैसा Earn करने के लिए ऊपर साइड में HOME पे क्लिक करे


 home पे क्लिक करने के बाद इस तरह का पेज खुलेगा 


​​
पैसे Earn करने के लिए के लिए आपको टास्क को कम्पलीट करना होगा टास्क को complete  लिए Start Task 1 पे क्लिक करे Task को कम्पलीट करने से पहले ये HELP पेज जरूर पढ़ ले


​​
 help पेज में आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी की कैसे टास्क को कम्पलीट करना है क्या rule है  
लेकिन फिर भी मैं यहाँ  short में बता देता हु 

पैसा कमाने के लिए Start Task 1 पे क्लिक करे फिर एक नई पेज खुलेगा 
पेज पे 5 सेकंड में कुछ विज्ञापन आएंगे  क्लिक  है वहा क्लिक करे और 50 सेकंड तक रुके फिर वापस आके बाकि सब विज्ञापन को कट करदे और start Task 2 पे क्लिक करे 
और इसी तरह से Task 7 तक कम्पलीट करे  जब आप task 7 को कम्पलीट कर लेंगे 
तब एक नई बटन आएगी FINISH THIS Task 7 पे क्लिक करे फिर ADD POINT TO WALLET पे क्लिक करे 
फिर आपके wallet पे पॉइंट Add हो जायेंगे 


इस तरह से आपको टास्क को कम्पलीट करना है और पैसे Earn करने है 

Refer And Earn 

अगर आप अपने refer id किसी को ज्वाइन करवाते है तो आपको 500 point मिलेंगे 
आपकी refer id आपका मोबाइल नंबर ही है 



इस एप्प के Rule 

1. अच्छी स्पीड में ही टास्क को कम्पलीट करने स्लो स्पीड में विज्ञापन जल्दी शो नहीं होंगे 
2. हर एक टास्क में  क्लिक जरूर करे  यानि आपके टोटल 7 क्लिक होने चाहिए
3.   एक ही तरह के विज्ञापन पे बार बार क्लिक ना करे 
4. एक दिन में केवल 3 - 4 बार ही सभी टास्क को कम्पलीट करे (ज्यादा जल्दी बाजी न करे सब्र का फल मीठा होता है  सभी टास्क को अलग अलग समय में कम्पलीट करे 
5.   अगर रूल को समझने में कोई दिक्कत आती  है तो आप हमें comment पे पूछ सकते है अगर आप सभी rule को अच्छे से फॉलो करते है तो आपको 100% आपको पैसा मिलेगा

ये एक बहुत अच्छा अप्प है अगर आप ईमानदारी से काम करते है तो आप monthaly 5000 - 10000 तक बहुत आसानी से कमा सकते है 

इस अप्प के साथ cheating करने की कोशिस न करे वरना आपको पैसे नहीं मिलेंगे 
Rule को अच्छे से follow करे आपको 100% पैसे मिलेंगे 


मेरे ख्याल से आपको ये पोस्ट अच्छी लगी होगी इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे 
 Thankyou And Enjoy  agar is post ke bare me kuch puchna change hai to comment jarur kare

Subscribe Our Newsletter

Contact Form

Name

Email *

Message *

Blog Archive

Follow by Email