Wednesday, 31 August 2017

Hindi story,Hindi article, Hindi biography, success story,motivational story,seo,blogger, WhatsApp,Facebook,worldpress, tips and tricks in hindi

Sunday, February 18, 2018

Upse ,cse,iss कि परीक्षा की पूरी जानकारी हिंदी में upse cse iss exam full information by deshhindi.com

नमस्कार दोस्तों आज हम बात भारत के एक प्रमुख   एग्जाम UPSE CSE ISS के लिए होने वाली परीक्षा के बारे में बात करने वाले हैं।
ISS बनने के बाद कैंडिडेट निम्न पोस्ट पर जॉब करते हैं


1)  कलेक्टर
2)  कमिश्नर
3)  Head of public sector units
4)  चीफ सेक्रटरी
5)  कैबिनेट सेक्रेटरी
ISS की  जॉब बहुत चैलेंजिंग JOB होती है इसके लिए बहुत कठिन  एग्जाम लिया जाता है क्युकी  एक IAS की बहुत बड़ी जिम्मदारी होती है ।
एक ISS अधिकारी का कैरियर बहुत ही मेहनती  व जिम्मेदार माना जाता है।


भारत में Govt. जॉब्स में सबसे बड़ी पोस्ट आईएएस को माना जाता है। यह  बहुत ही प्रतिष्ठित JOB होती है। ISS का असली काम लाखो लोगों की ज़िंदगी में पॉजिटिव बदलाव लाना होता है।
ISS बनने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है और इसके लिए EXAM का प्रोसेस बहुत खतरनाक होता है ।

IAS के लिए एलिजिबिलिटी ―  
1) अभ्यर्थी के पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर की डिग्री होनी चाहिए।

2) General category के अभ्यर्थी की उम्र 21 से  32  साल तक होनी चाहिए तथा जनरल कैटेगरी का अभ्यर्थी 6 बार यह परीक्षा दे सकता है।

3) OBC category के अभ्यर्थी की उम्र  21 से 35
साल तक होनी चाहिए तथा OBC कैटेगरी के अभ्यर्थी 9 बार यह परीक्षा दे सकते  है।

4) Sc /st category के अभ्यर्थी की उम्र 21 से 37 साल तक होनी चाहिए तथा ये अभ्यर्थी यह परीक्षा
37 साल तक कितनी भी बार दे सकते हैं।

5) इसके अलावा अभ्यर्थी को भारत का नागरिक होना भी जरूरी है।
IAS के एग्जाम को तीन बार में लिया जाता है ―


(1)  प्रीलिम्स  ―   यह एक आब्जेक्टिव टाइप पेपर     होता है इसमें करीब दस लाख स्टूडेंट्स पेपर देते हैं जिनमें से लगभग एक लाख स्टूडेंट्स मेन्स में सिलेक्ट होते हैं। इसमें जनरल नॉलेज, करंट अफेयर्स , हिस्ट्री, बेसिक नॉलेज , बेसिक कैलकुलेशन  आदि पर प्रश्न पूछे जाते हैं ।
इसमें दो पेपर होते हैं  100,100 नम्बर के जिनमें से      passing मार्क्स 33 33 लाने होते हैं इस पेपर के मार्क्स फाइनल टोटल में नहीं जुड़ते हैं।


(2) मेन्स ― प्रीलिम्स क्लियर करने के बाद   अभ्यर्थियों को मेन्स क्लियर करना पड़ता है इसमें 9 paper  होते हैं जो निम्न है  इनमें से सात पेपर के मार्क्स फाइनल टोटल में जुड़ते हैं और बाकी दो पेपर में पासिंग मार्क्स लाने पड़ते है ।

  पेपर  1)कोई एक भारतीय भाषा 250 marks

  पेपर  2) अंग्रेजी 250marks

  पेपर  3) निबंध 250 marks

  पेपर  4)सामान्य अध्ययन part 1  ( भारतीय                इतिहास, संस्कृति, और भूगोल )     250 marks

    पेपर  5)    सामान्य अध्ययन part 2 (गवर्नेंस            सामाजिक न्याय, संविधान , अंतरराष्ट्रीय सम्बन्ध )    250 marks

    पेपर  6)    सामान्य अध्ययन  part 3  ( प्रोद्योगिकी   आर्थिक विकास ,पर्यावरण , जैव विविधता ,आपदा प्रबंधन) 250 marks

   पेपर  7) सामान्य   अध्ययन part 4  (नैतिकता,ईमानदारी, ऐप्टिट्यूड )  250 marks

  पेपर  8)   वैकल्पिक विषय 250 marks

  पेपर  9)  वैकल्पिक विषय250 marks

 (3) इंटरव्यू ―   इसमें व्यक्ति से मौखिक रूप से प्रश्न पूछे जाते हैं यह 275 मार्क्स का होता है। इसके मार्क्स टोटल में जुड़ते हैं। इसमें कैंडिडेट की पर्सनेलिटी को चैक किया जाता है ।

इन  सब परीक्षा के बाद IAS ऑफिसर का सिलेक्शन होता है लगभग हर वर्ष 1000  IAS ऑफिसर बनते हैं जिन्हें एक साल की ट्रेनिंग के लिए लाल बहादुर शास्त्री एकेडमी मसूरी भेजा जाता है जहां से वे आईएएस बन कर लौटते हैं और देश की सेवा करते हैं।

तो कैसा लगा आपको ये आर्टिकल हमें कमेंट करके जरूर बताये और हो सके तो अपने 20 सेकंड देकर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर




 
Sarkari or private job ki jankari ke liye humari website.  www.seekhe.com/en  visit kare

Subscribe Our Newsletter

Contact Form

Name

Email *

Message *

Blog Archive

Follow by Email